पित्त की थैली मे पथरी का घरेलू उपचार | पित्त की थैली घरेलू उपचार

पित्त की थैली मे पथरी का घरेलू उपचार

पित्त की थैली मे पथरी का घरेलू उपचार

पित्त की थैली मे पथरी का घरेलू उपचार

नाशपाती

नाशपाती पथरी मे होने बाले दर्द को कम करने मे सहायता करता है इसमें एक ऐसा तत्व पाया जाता है जो कोलेस्ट्रॉल की बनी  पथरी को नरम करने मे सहायता करता है।

हल्दी

हल्दी पित्त की पथरी के लिए बहुत ही लाभकारी सिद्ध होती है यह एंटी ऑक्सीडेंट और एंटी इंफ्लेमेटरी होती है जो की पित्त की पथरी को आसानी से ख़त्म कर देती है एक चमच हल्दी लेने से पित्त की पथरी को आसानी से विघटित  किया जा सकता है।

बड़ी इलायची

बड़ी इलायची को आधा ग्राम खरबूजे के बीज के साथ पीसकर फिर इसका सेवन करने से पित्त की पथरी मे फायदा मिलता है।

सेव का जूस

सेव को अच्छी तरह धो ले फिर इसे उबालने के लिए रख दे उसके बाद ये उबलकर नरम हो जाये फिर इसे मिक्सर मे डालकर पीस ले पीसने के बाद इसे छान ले जब यह जूस छन जाये फिर इसमें चीनी मिलाकर इस जूस का सेवन करें।

नीबू का रस

नीबू का रस लिवर  मे बने  कोलेस्ट्रॉल को साफ़ कर देता है चार नीबू का रस निकाल ले फिर इसे सुबह खाली पेट पी ले इसकी प्रकृति अम्लीय होती है इसका सेवन करने से पित्त की पथरी को ख़त्म किया जा सकता है।

पित्त मे होने वाली पथरी को मूली का रस पीने से काफी हद तक सही किया जा सकता है।

अनार

अनार पोटैशियम का अच्छा स्त्रोत होता है जो की पथरी के गठन को रोकता है अत अनार पित्त की पथरी के बनने मे काफी सहायक सिद्ध होता है अनार मे ऐसे तत्व पाए जाते है जो की विषाक्त पदार्थो को मूत्र के द्वारा बहार निकालने मे मदद करते है।

लाल शिमला मिर्च

पित्त की पथरी के रोगियों को अपनी डाइट मे शिमला मिर्च को जरूर  शामिल करना चाहिए शिमला मिर्च मे विटामिन c  होता है जो की पित्त की पथरी के रोगियों के लिए बहुत ही लाभकारी होता है।

खीरे और ककड़ी का रस

खीरे और ककड़ी का रस को मिलाकर  पीने से पित्त की पथरी मे फायदा मिलता है।

 

विटामिन C

पित्त की पथरी मे विटामिन C से बने फलो को खाने से बहुत ही ज्यादा फायदा मिलता है जैसे कि खट्टे फल संतरा , मौसम्मी , टमाटर ये पित्त की पथरी के विघटन मे सहायता करेंगे।

 

सेव का रस

सेव का जूस पीने से पित्त की पथरी मे बहुत ही लाभकारी सिद्ध होता है ५ से ६ दिन लगातार सेव का रस पीने से पित्त की पथरी मे बहुत ही फायदा मिलता है।

 

अंगूर का जूस

अंगूर का जूस पीने से पित्त की पथरी मे बहुत ही लाभ मिलता है रोज सुबह अंगूर का जूस पीने से पित्त की पथरी काफी लाभकारी सिद्ध होता है।

 

पानी

गुनगुना पानी पीने से पित्त की पथरी मे बहुत ही लाभकारी होता है यह पाचन क्रिया को दुरस्त करता है।

 

तोरई

तोरई का जूस बहुत ही लाभकारी सिद्ध होता है पित्त की पथरी मे अगर आप नियमित रूप से तोरई का जूस पीते है  तो ये आपकी पित्त की पथरी मे बहुत ही लाभकारी सिद्ध होता है।

 

क्रैनवेरी

पित्त कि पथरी मे क्रैनवेरी बहुत ही लाभकारी सिद्ध होता है ये पथरी को मूत्र मार्ग से बहार निकालता है।

 

तली चीज़ो से परहेज़

पित्त की थैली मे पथरी होने पर तली चीज़े नहीं खाना चाहिए क्योकी इसमें सैचुरेटेड और ट्रांस वसा होती हैजो की पाचन को बिगाड़ती है  पित्त की थैली खाना पचाने मे सहायता करती है अत पित्त की थैली होने पर तली हुई चीज़ो से परहेज़ करना चाहिए।

 

मीट का सेवन

मासाहारी चीज़ो मे कोलेस्ट्रॉल और वसा बहुत अधिक मात्रा मे पाया जाता है जो की पित्त की पथरी के निर्माड़ का कारन बनती है मासाहार का सेवन  पैट दर्द का कारन बनती है ये आपके लिए हानिकारक होगा ।

 

पैकिट बंद चीजों से बचें 

पैकेट बंद चीज़ो मे फैटी एसिड पाया जाता है जो की पित्त की पथरी को बढ़ावा देता है अत जिन लोगो को पथरी की शिकायत पायी जाती है उन्हें पैकेट बंद चीज़ो का उपयोग नहीं करना चाहिए ।

 

अतरिक्त जानकारी के लिए हमें इस नंबर पर कॉल करे 

Phone call - Free technology icons

+91 7470445222

Share this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


EN