बवासीर (Piles) का आयुर्वेदिक इलाज क्या है

बवासीर क्या है, जानिए अर्श या बवासीर का इलाज

बवासीर की समस्या से निजात

बवासीर क्या है, जानिए अर्श या बवासीर का इलाज

मलद्वार में असहनीय तकलीफ, कांटों सी चुभन, मस्से एवं घाव, जलन मलत्याग के समय मलाशय में अत्यधिक पीड़ा और इसके बाद रक्तस्राव, खुजली इसके लक्षण हैं बवासीर का मुख्य कारन है बहुत लम्बे समय तक कब्ज या पैट साफ़ न होना ये बवासीर का मुख्य कारन है तथा मल दुआर के पास की नसों मे सूजन आ जाती है। बवासीर के दो प्रकार होते हैं अंदरूनी और बाहरी। अंदरूनी बवासीर में नसों की सूजन नहीं दिखाई देती है। बाहरी बवासीर में सूजन गुदा के  बाहर दिखाई देती है। इसकी मुख्य बजह लोगो का लम्बे समय तक बैठ कर काम करना है।

बवासीर के लक्षण- 

  • गुदा के पास सूजन रहना तथा छोटे छोटे फोड़े होना उनमे से खून निकलना ।
  • सही से पेट साफ़ न होना ।
  • मल त्याग करते समय रक्त स्त्राव होना तथा जलन महसूस होना।
  • गुदा मार्ग के आस पास खुजली होना तथा सूजन होना।
  • मल त्यागने का मन करना परन्तु मल बाहर न आना।

बवासीर की समस्या से निजात पाने के लिए घरेलू उपचार :

1. हल्दी का लेप लगाएं

सबसे पहले आप कड़वी तोरई के रस को निकाल ले फिर इसे हल्दी मे मिलाकर इसका पेस्ट तैयार कर ले तथा तैयार लेप  को नियमित रूप से मस्सो पर लगाए ये आपके मस्सो को ख़त्म कर देगा।

2. घी और शहद

गाय का घी और शहद दोनों को बराबर मात्रा मे मिलाकर बवासीर के मस्सो पर  लगाए  ऐसा करने से बवासीर बिलकुल ठीक हो जाएगी।

3. नीम

नीम के पत्तो को घी मे भूनकर तथा इसमें कपूर मिलाकर मस्सो पर लगाने से मस्से सूख जायेंगे।

4. पपीता

पपीता को एक लैक्सटिव के रूप मे जाना जाता है जो मल को आसानी से त्याग करने मे सहायता करता है तथा कब्ज से छुटकारा दिलाने मे सहायता करता है।

5. अंजीर

अंजीर को पानी मे रातभर भिगोकर  रखकर सुबह खाने से इस बीमारी मे आराम मिलता है।

6. नींबू के रस का करें सेवन

नींबू मे अदरक और शहद मिलाकर सेवन करें और इस घरेलू नुक्से से भी आपको बाबासीर की बीमारी से राहत मिल सकती है।

7. इलायची

५० ग्राम बड़ी इलायची को तवे पर भून ले फिर इसे ठंडा करकर बारीक पीस ले अब इसका रोज सुबह सेवन करे ठन्डे पानी के साथ ऐसा करने से आपको बवासीर मे जरूर लाभ मिलेगा।

8. फाइबर युक्त आहार

अच्छी पाचन क्रिया के लिए फाइबर से भरा आहार बहुत जरूरी होता है। जो की बावसीर से छुटकारा दिलाने मे लाभकारी सिद्ध होता है इसलिए अपने आहार में रेशयुक्त आहार जैसे साबुत अनाज, आहार मे ताजे फल और हरी सब्जिया शामिल करें ।

9. असरदार छाछ

दो लीटर छाछ मे ५० ग्राम जीरा मिलाकर स्वादानुसार नमक मिलाने के बाद प्यास लगने पर पानी पीने के स्थान पर इसे पीने से बवासीर के मस्सो से छुटकारा मिलेगा दही का सेवन बवासीर मे बहुत ही फायदेमंद सिद्ध होता है।

10. दालचीनी

एक चमच्च शहद मे १/४ दालचीनी पाउडर मिलाकर रोज सेवन करें ऐसा करने से बवासीर के मस्सो मे जरूर छुटकारा मिलता है।

11. किसमिस

किसमिस को रात को पानी मे भिगो ले फिर इसे सुबह उठकर पानी मे मिलाकर पी ले लेकिन किसमिस को पानी मे मिलाने से पहले बारीक पीस ले ऐसा करने से आपकी बवासीर की समस्या बिल्कुल ठीक हो जाएगी।

12. तिल

१० से १२ ग्राम धुले हुए तिल को मखन्न  के साथ लेना चाहिए ऐसा करने से मलद्बार मे खून आने की शिकायत सही हो जाती है तथा बवासीर मे भी काफी फायदा मिलता है।

13. नीम

नीम की नीबॉडी का पाउडर पीसकर बना ले फिर इस पाउडर को रात मे रखे पानी के साथ मिलाकर पी ले ऐसा करने से बवासीर के रोग मे काफी फायदा मिलता है।

नीम का तेल बवासीर के मस्सो  पर लगाने से बवासीर के मस्सो मे काफी लाभ मिलता है।

14. गुलाब की पंखुडियां

गुलाब की पंखुड़ी लेकर इसे ५० मम पानी मे मिलाकर अच्छी तरह से पीस ले फिर इसका तीन दिन लगातर खाली पेट  सेवन करने से बावसीर का सही उपचार किया जा सकता है।

15. एलोवेरा का करें इस्तेमाल

एलोवेरा जेल से बवासीर की  सूजन को काफी हद तक कम किया जा सकता है तथा ये पैट गैस की समस्या को नियंत्रित करता है। एलोवेरा आंतरिक और बाहरी दोनों प्रकार के बवासीर को ठीक करने में लाभकारी होता है। गुदा के बाहर के मस्सों में एलोवेरा जेल को लगाएं और इससे आपको जलन एवं दर्द की समस्या से निजात मिल सकती  है। प्रतिदिन 200 से 250 ग्राम तक एलोवेरा के पौधे को खाएं ऐसा करने से कब्ज की समस्या कभी नहीं होगी।

16.  बवासीर को रोकने के लिए पिएं खूब पानी

आप पानी का पर्याप्त  सेवन कर बवासीर के लक्षण को कुछ हद तक कम कर सकते हैं। क्योंकि   स्वास्थ्य आहार और पानी की पर्याप्त मात्रा मल त्याग को आसान बनाती है।अच्छी मात्रा में पानी पीने से कब्ज और पेट की अन्य समस्याएं  दूर होती है। इस तरह से आप नियमित रूप से अधिक मात्रा में पानी पीकर बवासीर का इलाज कर सकते हैं। रोगी को सामान्य  रूप से दिन में 8 से 10 गिलास पानी पीना चाहिए। लेकिन इस बात का ध्‍यान रखें कि इससे अधिक पानी पीना अन्य समस्याऔ को बढ़ा सकता है। इस तरह से आप बवासीर का उपचार कर सकते हैं।

क्या आप बवासीर की समस्या से परेशान हैं?

नि:शुल्क परामर्श के लिए हमें इस नंबर पर कॉल करें
हमारे विशेषज्ञ आपकी मदद के लिए तैयार हैं।

Share this post


EN